Ticker

6/recent/ticker-posts

Bhool bhulaiyaa 2 Movie Review

Bhool bhulaiyaa 2 Movie Review, cast, song

Bhool bhulaiyaa 2 Movie Review

जादू टोना काला रंग लोगों को बहुत पसंद है, लेकिन सिर्फ कपड़ों में, काफी चीजों के आगे काला लिखने से प्यार हमेशा डर में बदल जाता है। जैसे काला साया काली रात काला जादू सबसे खतरनाक यानी की ब्लैक मैजिक सबसे खतरनाक होता है। बस इसी काले जादू से बॉलीवुड में एक नई फिल्म आई है और उसका नाम है bhool bhulaiyaa 2 । 

 Bhool bhulayaa 2 फिल्म के उपर उसके पहले पार्ट को मैच करने का काफी प्रेशर है। तो दोस्तो इस फिल्म को एक नई आंखो से देखते हैं। कहानी एक भूतिया हवेली की है। जिसमें अठारह सालो से एक बुरी आत्मा कैद है। जिसका नाम है " मंचलिका "। मंचलीका का गाना "आमी तू मुझे मार " काफी फेमस है। और मंचलिका ने साथी परिवार के आठ लोगो को नरक का मेहमान बनाया है ,  ऐसा भी सुनने को मिलता है। फिर उस हवेली में पड़ते है  "रूह बाबा " के कदम। बंदे को खुद उपर वाले ने एक अनोखी शक्ती दी है ।  जिसे हम सब six sence कहते है। बाबा उस मरे हुये आदमी से बात भी करते है । सिर्फ बात ही नहीं कभी कभी वह आत्मा उनके शरीर में भी घुस जाती है , और अपने आखरी इच्छा तक बता जाती है।

 फिल्म में लोग मंचली का को तो भूत समजते है तो फिर यह फुलो की माला घर की सुंदर सी बेटी के फोटो पर क्यों पड़ी है। कही ऐसा तो नही मंचली का एक धोका है,  और असली भूत कोई और ही है।जो लोगो के बीच में सालो से जिंदा होते होने का नाटक कर रहा है। सच पता लगाने की जिम्मेदारी अब रूह बाबा की है। जो आजकल मंचली का का फेमस गाना आमी तू मुझे मार गा रहे है।  दोस्तो कहानी का इंटरवल तो हो गया । अब आते है मुद्दे की बात पर फिल्म कॉमेडी है या हॉरर है। फिल्म में यह दोनो बाते है या दोनो गायब है।

सिर्फ दो गलतियां है , फिल्म में सबसे पहली बात है की bhool bhulaiyaa फिल्म और आज की bhool bhulaiyaa 2 फिल्म दोनो मे से सिर्फ नाम का रिश्ता है। दोनो के काम तो अलग है । काम मे कोई भी कनेक्शन नही है।  वहा दिमाग का बडा डर था ।  दिमाग का सायकोलॉजिकल हॉरर दिखाया गया था। आज की फिल्म में यहा आंख और कान के साथ साथ गंदी शकले और खतरनाक आवाज को भी शिकार बनाया है। सीधी बात यह है कि की जो क्लासिक हॉरर फिल्म देखते है उन्हें Bhool bhool bhulaiyaa 2 में डर का R भी नहीं मिलेगा, लेकिन कमजोर दिलवाले लोगो को अच्छे खासे सीन है जो भूत अचानक प्रकट होते,  और जोर का झटका जोरो से देते है । 

देखो भूत वाली फिल्म है, तो इसमें भूतवाले सीन जादा तर नही दिखाना चाहिए । कोई आयेगा ,  कोई है , कोई आ सकता है , बस यही खयाल दिल मे रहना चाहिये तो काफी डर दिल मे रहता है । लेकिन इस फिल्म मंचलीका बार बार आती है , और उससे बाते की जाती है इसके कारण मंचलीका का डर कम होता है और मनचलिका का भी कैरेक्टर्स बाकी characters की तरह मामूली लगने लगती है दूसरी गलती है कि ग्लैमर ओवर कंटेंट वाली मतलब आप महल में भूत की कहानी सुना रहे हो और अचानक हीरो हीरोइन बीच में दिखाई दे देते हैं वह भी पूरे 3-4 मिनिट गाने के साथ इससे हम कहानी के साथ जुड़े हुए थे। यह कनेक्शन कमजोर होता है फिल्म में पूरी तरह गड़बड़ नजर होती है , और देखने वालों के दिमाग में भी गड़बड़ होती है ।अब इस फिल्म को बॉलीवुड को आगे बढ़ाना पड़ेगा क्योंकि जरूरी नहीं की हर फिल्म ढाई 3 घंटे की बनाएं और उसमें तीन चार बड़े गाने घुसाए जाए । बस यही कुछ शिकायतें हैं फिल्म से । 

Bhool bhulaiyaa 2 Movie Review

Positive reason 

अब फिल्म की अच्छी बातों की ओर हर अच्छी बात जुड़ी है एक ही नाम से और वह नाम है "कार्तिक आर्यन" इस फिल्म में कार्तिक की कॉमेडी टाइमिंग जबरदस्त है फिल्म में कुछ डायलॉग फालतू टाइप की है , लेकिन कार्तिक आर्यन जिस ढंग से वह डायलॉग बोलते हैं वह आपको जरूर हसाएंगे । पूरे फिल्म में कार्तिक अपने इशारों पर नचाते हैं। उनका कैरेक्टर काफी चालाक है और एक्टिंग इतनी सॉलिड की जिसके दम पर फिल्म की छोटी मोटी कमियां गायब हो जाती है , जैसा कि बॉलीवुड की दूसरी हॉरर फिल्म मैं होता है की भूत वगैरह दिखाने के चक्कर में कहानी को साइडलाइन किया जाता है। ऐसी गलती इस फिल्म में नहीं की गई है । Bhool bhulaiyaa 2 की कहानी "भूल भुलैया" पार्ट फर्स्ट की जैसी नहीं है लेकिन सरप्राइजिंग जरूर है bhool bhulaiyaa 2 में लॉजिक का भी काफी ध्यान रखा है। मनचलीका कौन है ?, लोग उससे क्यों डरते हैं? यह सब एक ही सिक्वेंस में बताया है डायलॉग के सामने फरदन सामजी जी का नाम लिखा है, लेकिन सरप्राइजिंग यह है कि डायलॉग कुछ फालतू है, लेकिन "सपोर्टिंग कैरेक्टर"/ के एक्टर्स ने सिचुएशन को इतना फनी बना दिया है , कि सिचुएशन को किसी डायलॉग की जरूरत नहीं पड़ती है और अब बात "तब्बू मैम" की जिन्होंने फिल्म में जबरदस्त काम किया है। उनके कैरेक्टर के बारे में ज्यादा नहीं बताऊंगा, लेकिन जब आप फिल्म देख कर थिएटर के बाहर आएंगे जब कार्तिक आर्यन से ज्यादा आपके होठों पर तब्बू मैम का नाम होगा भूल भुलैया की फर्स्ट पार्ट से bhool bhulaiyaa 2 की सिचुएशन अलग है। इसलिए इन दोनों फिल्मों का कंपैरिजन करने का सवाल ही नहीं उठता। bhool bhulaiyaa 2 एक फैमिली एंटरटेनर है। जिसमें डर ज्यादा लगे ना लगे लेकिन कार्तिक के डायलॉग कॉमेडी और कहानी का ट्विस्ट आपका पैसा जरूर वसूल करेगी bhool bhulaiyaa 2 में कहानी को पूरी तरह डिटेल में और लॉजिकल क्या है ? कैसे हैं ? सब समझाया है। कहानी में इतना ट्विस्ट है कि स्क्रीन पर से एक सेकंड भी नजर नहीं हटने देंगे। कार्तिक आर्यन की टाइमिंग कॉमेडी और "आ मुझे तू मार" ट्रांसफॉरमेशन फिल्म को और मजेदार बनाती है । फिल्म में कुछ फनी सिचुएशन है जिसमें डायलॉग की कोई आवश्यकता नहीं है। यह सब फिल्म के पॉजिटिव पार्ट है जिसके कारण फिल्म बहुत ही अच्छी लगती है। 

Negative reason 

अब बात negative reason की फिल्म में "कियारा आडवाणी" को सही तरह से इस्तेमाल नहीं किया है। कियारा आडवाणी की जगह कई नए कैरेक्टर फिल्मों में गुसाए है। मनचलीका सिर्फ नाम ही काफी था लेकिन मनचलीका को बार-बार स्क्रीन पर दिखाने के कारण उसका डर लोगों में से खत्म होता है ।अब बात करें कहानी की तो ऐसी कहानी और भी एक फिल्म में है , जो फिल्म बिपाशा बासु की है। उस फिल्म का नाम जरूर कमेंट करके बताइए। मेरी राय यही है कि 'कार्तिक आर्यन और अक्षय कुमार" को कंपेयर मत कीजिए, क्योंकि दोनों भी टैलेंट है । कार्तिक आर्यन bhool bhulaiyaa 2 में अपने दम पर फिल्म को सुपरहिट बना देंगे । क्या भूल भुलैया 2 फिल्म भूल भुलैया फिल्म का रिकॉर्ड तोड़ेगी ? हाल ही में बाकी फिल्मों से ज्यादा कमाई bhool bhulaiyaa 2 करेगी ? आपकी इस बारे में क्या राय है ? कमेंट करके जरूर बताएं।

Post a Comment

0 Comments